Popular Posts

जन्‍मदिन विशेष: सिर्फ सिंगर नहीं थे किशोर कुमार...


मुंबई। हिंदी सिनेमा के मल्टी टैलेंटेड स्टार किशोर कुमार का जन्म आज ही के दिन हुआ था। वह अशोक कुमार के छोटे भाई थे। मोहम्मद रफी, मुकेश और लता जैसे बेहतरीन गायकों के बीच हिन्दी सिनेमा का डूडलिंग से परिचय कराने वाले किशोर कुमार बॉलीवुड के लगभग हर महानायक की आवाज बने। आज भी किशोर कुमार के नगमे नए से लगते हैं।








किशोर कुमार का जन्म 4 अगस्त 1929 को मध्यप्रदेश के खंडवा में हुआ था। उनके पिता एक वकील थे और बड़े भाई अशोक कुमार एक मशहूर अभिनेता। लेकिन किशोर कुमार को बचपन से एक्टिंग और गाने का शौक था। किशोर कुमार ने अपने गायकी करियर का आगाज देवानंद की फिल्म 'जिद्दी' से किया था। हालांकि इससे पहले वह कई फिल्मों में एक्टिंग कर चुके थे।






किशोर कुमार ने 1951 मे मुख्य अभिनेता के तौर पर फिल्म 'आंदोलन' से अपने करियर की शुरुआत की थी। हालांकि यह फिल्म दर्शकों को खास पसंद नहीं आई। किशोर कुमार को पहचान फिल्म 'लड़की' से मिली जो 1953 में रिलीज हुई थी। यह उनके करियर की बतौर अभिनेता पहली हिट फिल्म थी। इसके बाद बतौर अभिनेता भी किशोर कुमार ने अपनी फिल्मो के जरिये दर्शको का भरपूर मनोरंजन किया।




साल 1957 में आई फिल्म 'फंटूश' में 'दुखी मन मेरे गीत गाने' का अवसर मिला जिसने किशोर कुमार को पहचान दिलाई। इसके बाद किशोर कुमार ने देवानंद सहित कई अभिनेताओं के लिए पाश्र्वगायन किया।

किशोर कुमार को उनके गाये गीतों के लिये 8 बार फिल्मफेयर पुरस्कार मिला। किशोर कुमार ने अपने संपूर्ण फिल्मी कैरियर मे 600 से भी अधिक हिंदी फिल्मों के लिये अपना स्वर दिया। उन्होंने बंगला, मराठी, गुजराती, कन्नड, भोजपुरी और उडिया फिल्मों में भी अपनी दिलकश आवाज के जरिये श्रोताओं को भाव विभोर किया।

SOURCE - jagran.

A News Center Of Filmy News By Information Center

Google+ Followers