विश्वास का समर्थन करने पर सोनू निगम बैन? #IStandWithSonuNigam



गायक सोनू निगम ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी के नेता और कवि कुमार विश्वास का समर्थन करने पर ज़ी ने उन पर प्रतिबंध लगा दिया है.

सोनू निगम ने ट्वीट करके कहा, ''तो ज़ी ने मुझ पर बैन घोषित कर दिया है. मैं क्या कहूं.. ईश्वर सब पर कृपा करें.''

उन्होंने आगे ट्वीट किया, ''यह सही हो या गलत, एक बात साफ़ है कि किसी को बैन करना पूर्ण रूप से दुर्भाग्यपूर्ण है."
हालाँकि ज़ी म्यूजिक ने ट्विटर पर जारी बयान में कहा है, "ज़ी म्यूजिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का सम्मान करता है और उसके साथ खड़ा रहता है. किसी प्रतिभा के साथ काम नहीं करने का चुनाव सिर्फ़ बिज़नेस से जुड़ा फ़ैसला है."
'सच्चाई आए बाहर'

दरअसल, ज़ी न्यूज़ ने कुछ दिनों पहले कुमार विश्वास का एक वीडियो दिखाया था.

यह वीडियो आम आदमी पार्टी की जंतर-मंतर पर हुई किसान रैली का था. इस वीडियो के ज़रिए कुमार विश्वास पर आरोप लगाया गया था कि जब किसान गजेंद्र सिंह ने पेड़ पर फंदा लगाकर आत्महत्या की थी तब कुमार विश्वास ने कहा था 'लटक गया'.

सोनू निगम ने इस वीडियो के लिंक के साथ ट्वीट किया था, "मैं राजनीति से बहुत दूर हैं, लेकिन मेरे कवि दोस्त कुमार विश्वास की खातिर इसकी सच्चाई बाहर आनी चाहिए."

फ़िल्म समीक्षक कोमल नाहटा ने ट्वीट किया, "सुना है, ज़ी म्यूज़िक कंपनी सोनू निगम के गाए गाने नहीं ख़रीदेगी. वजह का पता नहीं. उनकी आने वाली फ़िल्मों में सोनू निगम की जगह किसी और को लिया जाएगा."
सोनू का समर्थन

इसके बाद ट्विटर पर #IStandWithSonuNigam ट्रेंड करने लगा और सोनू के समर्थन में जमकर ट्वीटरबाज़ी हो रही है.

गायक शान ने ट्वीट किया, "सच है. जब लोगों पर सत्ता का नशा चढ़ता है...तो वे भगवान से खेलते हैं..निश्चित तौर पर अनुचित है."

एक यूजर महेश लते ने लिखा, "लगता है न्यूज़ चैनल भी अच्छे दिन मॉडल को फ़ॉलो कर रहे हैं. जो पसंद नहीं उसे बैन कर रहे हैं."

पंकज मिश्रा ने ट्वीट किया, "भारत में सच बोलने पर इतना कुछ!! सोनू निगम आप ग्लोबल स्टार हो. ज़ी न्यूज़ आपके आगे हाथ जोड़ेगा."

एक और यूजर अनिता ने ट्वीट किया, "आपको सुनने के कई तरीके और भी हैं."

लेकिन एक यूजर मधुसूदन ठक्कर ने ट्वीट किया, "ये सोनू निगम का पब्लिसिटी स्टंट है."
Source - BBC

A News Center Of Filmy News By Information Center

Google+ Followers